Lok Sabha Result 2024: इस कारण नहीं बचा पाई बीजेपी की जमीन, इन वजहों से खटाखट घटीं सीटें

यूपी में बीजेपी की जमीन खिसकने के पीछे एक वजह योगी फैक्टर का काम न करना भी है। अखिलेश का पीडीए (पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक) फॉर्मूला भी काम कर गया और पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक समुदाय का वोट इंडिया गठबंधन की ओर चला गया।

Photo of author

Reported by News NVSHQ

Published on

Lok Sabha Result 2024: इस कारण नहीं बचा पाई बीजेपी की जमीन, इन वजहों से खटाखट घटीं सीटें

Lok Sabha Result 2024: यूपी में बीजेपी के उलटफेर के पीछे कई वजहें दिखाई दे रही हैं। सपा और कांग्रेस ने जिस तरह से संविधान, बेरोजगारी जैसे मुद्दे उठाए, नतीजों से साफ लग रहा है कि जमीन पर इंडिया गठबंधन के लिए काम कर गया।

लोकसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में भगवा दल की सीटें कम हुई हैं। दोपहर 12 बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, सबसे बड़ा सियासी उलटफेर यूपी में दिख रहा, जहां पर सपा और कांग्रेस वाले इंडिया गठबंधन ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है।

यूपी में BJP को भारी नुकसान

सपा 35, कांग्रेस आठ सीटों पर आगे चल रही है, जबकि बीजेपी को बंपर नुकसान होते हुए महज 34 सीटों पर ही बढ़त हासिल है। बड़ी संख्या में सीटें घटने की वजह से बीजेपी 272 का बहुमत का आंकड़ा भी पार करती नहीं दिख रही।

हालांकि, एनडीए गठबंधन जरूर सरकार बनाता दिख रहा है। यूपी में बीजेपी के बड़े सियासी उलटफेर के पीछे कई वजहें दिखाई दे रही हैं। आम चुनाव के दौरान सपा और कांग्रेस ने जिस तरह से संविधान, आरक्षण, बेरोजगारी जैसे मुद्दे उठाए, नतीजों से साफ लग रहा है कि जमीन पर यह सब काम कर गया।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

वहीं, बीजेपी जिस राम मंदिर मुद्दे के सहारे देशभर में 400 पार की उम्मीद लगाए बैठी थी, वो यूपी में भी काम नहीं कर सका।

यह भी देखेंPrimary Teacher Bharti 2024: 7 हजार से अधिक पदों पर होगी भर्ती,जाने योग्यता

Primary Teacher Bharti 2024: 7 हजार से अधिक पदों पर होगी भर्ती, जाने योग्यता

योगी फैक्टर भी नहीं आया काम! साल 2017 में उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ का ग्राफ तेजी से बढ़ा। उनकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बैक-टू-बैक दो विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने यूपी में बंपर बहुमत हासिल किया।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यह चर्चाएं आम थीं कि फिर से मोदी सरकार बनने के बाद योगी आदित्यनाथ को यूपी सीएम के पद से हटाया जा सकता है। खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कई बार यह दावा किया। इन चर्चाओं की वजह से भी राजपूत वोटबैंक बीजेपी के खिलाफ दिखाई दिया।

चुनाव में खूब उछला संविधान और आरक्षण का मुद्दा

यूपी में बीजेपी की जमीन खिसकने और सपा व काँग्रेस के इंडिया गठबंधन की सीटें बढ़ने के पीछे राहुल गांधी, अखिलेश यादव के वादे भी हैं। इंडिया गठबंधन ने संविधान, आरक्षण, बेरोजगारी जैसे मुद्दे उठाए, नतीजों से साफ लग रहा है कि जमीन पर यह सब काम कर गया।

यह भी देखेंSchool Summer Holidays: सभी स्कूल इतने दिन रहेंगे बंद, यहाँ देखें छुट्टियों की लिस्ट

School Summer Holidays: सभी स्कूल इतने दिन रहेंगे बंद, यहाँ देखें छुट्टियों की लिस्ट

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें